BBALLB, BALLB LLB Admission Open 2017-18


Bank (बैंक) PO (पीओ) व Clerk (क्लर्क) परीक्षा 2016 Exam टिप्स in Hindi | Bank (बैंक) PO (पीओ) व Clerk (क्लर्क) short cut

आज के समय में देश में बेरोजगारी इतनी बढ़ रही है जिसके कई कारण ये है कि रोजगार चाहने वालों को या तो जानकारी समय से नहीं मिल पाती या उनके उस क्षेत्र की पूरी जानकारी नहीं होती जिस कारण हो परीक्षा देते समय आत्मविश्वास खो देते हैं। हम इस लेख में उन उम्मीदवारों के लिए ही ऐसे टिप्स दे रहें हैं जो बैंक की तैयारी करना चाहते हैं परन्तु परीक्षा की तैयारी करने के लिए उनके पास कोई जानकारी नहीं है। ये लेख में दी गयी जानकारी उनके परीक्षा समय में काफी उपयोगी साबित हो सकती हैं।

हमारे देश में बैंक के क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए बहुत आसान और सरल माना जाता है बस आवश्यकता है तो सिर्फ जानकारी और ऐसे टिप्स की जो आपकी परीक्षा में काम आ सके। बैंक में अपना कैरियर बनाने के इच्छुक छात्र-छात्राओं के लिए ये लेख बहुत ही फायदेमंद हो सकता है। हमारे देश में बैंक के क्षेत्र में कैरियर हमेशा से सुरक्षित और प्रतिष्ठित माना जाता है। वर्तमान में इस क्षेत्र में बढ़ रही पदों की संख्या ने इसे और भी अच्छे अवसर प्रदान करने वाला बना दिया है। बैंकिंग वर्तमान में देश के कुछ चुने चुनौतीपूर्ण क्षेत्रों में से एक है ये क्लर्क से लेकर पीओ तक के कई स्तर पर कई पद ऑफर करता है। उम्मीदवार अपनी योग्यता और रुझान के अनुसार चुनाव कर सकता है कि उसे किस क्षेत्र में अपना केरियर सुनिश्चत करना है।

आईबीपीएस (इंस्टिट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सनेल सिलेक्शन) पीओ व क्लर्क परीक्षा टिप्स

देश के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में पीओ और क्लर्क के पद पर भर्ती के लिए संयुक्त लिखित परीक्षा आयोजित करता है। अभी तक जहां सिर्फ राष्ट्रीयकृत बैंकों में ही अवसर मौजूद थे वहीं अब प्राइवेट बैंकों की संख्या इतनी बढ़ गयी है कि इनमें भी भर्ती की भरमार लगी रहती है। बहुत बड़ी संख्या में रिक्तियां निकलती रहती हैं। इन चीजों को देखते हुये इस सेक्टर में वर्तमान के साथ ही आने वाले समय में भी केरियर बनाने के ज्यादा से ज्यादा मौके आयेगें। पीओ परीक्षा के प्रश्नपत्र के 5 सेक्शन होते हैं  जिनमें संख्यात्मक योग्यता, बैंकिंग क्षेत्र के संदर्भ में सामान्य जागरूकता, तर्क-क्षमता, अंग्रेजी भाषा और कंप्यूटर.ज्ञान शामिल हैं। हमारे पास छात्रों को परीक्षा के लिए पूर्ण रूप से सक्षम बनाने हेतु कुछ महत्वपूर्ण टिप्स और रणनीतियों की जानकारी दे रहें हैं। तर्क-क्षमता वाले सेक्शन के लिए कुछ टिप्स और रणनीतियाँ नीचे दे रहें हैं। परीक्षा की तैयारी करते समय छात्रों को निम्नलिखित बातों का ध्यान देना चाहिए। जैसे-

  • मानसिक सजगता।
  • तर्क-क्षमता की उचित समझ।
  • समय के अनुरूप परीक्षा तैयारी।
  • नियमित अभ्यास।
  • इकाई के रूप में पाठ्यक्रम को सुनिश्चित करना।
  • पेपर से पहले पेपर का पूर्वावलोकन आदि।

विषय और पाठ्यक्रमः

सभी स्पर्धी परीक्षाओं के पाठ्यक्रम और विषय लगभग मिलते-जुलते ही होते हैं। बैंकिंग परीक्षा में मुख्य रूप से पांच विषयों का समावेश रहता है। इसमें अंग्रेजी,गणित, बुद्घिमता, कम्प्यूटर और सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। आपकी जानकारी के लिए संक्षिप्त रूप से नीचे पांचों विषय की जानकारी निम्नलिखित दी गयी है।

अंग्रेजी:- Spotting Common Errors, synonyms & antonyms, Improvement of sentences, passage comprehension, spelling correction related Questions, Fill in the blanks, Close Test (passage completion), Rearrangements of sentences in a paragraph, Transformation, Rearrangements of word substitution, sentence completion.

गणित:- इसमें संख्या पद्धिति, वर्ग और वर्गमूल, एकीक नियम, घात और घात के नियम, लाभ-हानि, सरल ब्याज, घन एवं घन मूल, चक्रवर्ती ब्याज, विभाजकता, समय और गति, समय और दूरी, क्षेत्रफल, डेटा इंटरप्रिटेशन, आदि से प्रश्न पूछे जाते है।

रिजनिंग:- इस विषय के अंतर्गत सामान्यतः श्रृंखला कोडिंग-डिकोडिंग और दिन, सदृश्यता व सहसंबंध, वर्णंमाला, रक्त संबंध, वर्गीकरण, समय, शब्द निर्माण, दिशा व दूरी, या रैंकिंग, समस्या-समाधान, बैठक व्यवस्थापन आदि से संबंधित प्रश्न किये जाते है।

सामान्य ज्ञान:- आईबीपीएस व एसबीआई की परीक्षा में 50 प्रतिशत प्रश्न चालू वर्ष की घटनाओं से संबधित होते हैं जैसे सामाजिक, राजनीतिक, पुरस्कार नवनिर्वाचित अधिकारी, विविध कार्यालयों के मुख्यालय, अन्य देशों के साथ संबंध, खेल जगत के पुरस्कार, विविध देशों की महत्वपूर्ण घटनाएं आदि।  बाकि के 50 प्रतिशत प्रश्न के लिए बैंकिंग क्षेत्र से संबंधित जैसे रैपो रेट, रिवर्स रैपो रेट, बैंक दर, आरबीआई की नई नीतियां व मार्केटिंग से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

 कम्प्यूटर:- इस विषय के पेपर में कम्प्यूटर परिचय, मेमोरी, डाटा रिप्रेजेन्टेशन सॉफ्टवेयर, ऑपरेटिंग सिस्टम, डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम, कम्प्यूटर नेटवर्क, इंटरनेट, इलेक्ट्रानिक्स कॉमर्स आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जा सकते हैं।

परीक्षा मंत्र

परीक्षा चाहे किसी भी क्षेत्र की हो परिक्षार्थी का दृष्टिकोण हमेशा सकारात्मक होना जरूरी है। परीक्षा के लिए अभ्यास करने से पूर्व संबंधित विषय और उनके बारे में संपूर्ण जानकारी होनी चाहिए अगर जानकारी नहीं है तो परीक्षा से पहले ही सारी जानकारी एकत्र कर ले। इसके लिए पिछले 4-5 वर्ष के प्रश्न पत्र देखें। आजकल इन्टरनेट भी जानकारी जुटाने का एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। इन दोनों तरीकों से यदि अध्ययन किया जाए तो हमें यह ध्यान में आ जाएगा कि किस विषय में किस तरह के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। अब आप देखेंगे कि हर विषय में आपकी रूचि बढ़ गई है। अपनी सकारात्मकता के द्वारा आप सफलता हासिल कर सकते हैं। आप नियमित अभ्यास के साथ-साथ अपनी सोच भी साकारात्मक रखें। आपको आपके रिजल्ट में 100 प्रतिशत सफलता मिलेगी।

नोटः अन्य सेना भर्ती से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमारी इस साइट को रोज विजिट करें। इस साइट में हर राज्य की सेना भर्ती की रेली, प्रादेशिक सेना से संबंधित, जल सेना, थल सेना एवं वायु सेना, केंद्रीय पुलिस आदि से संबंधित जानकारी दी जाती है। अगर इस साइट पर दी गई जानकारी के बारे में कोई भी टिप्पणी करना चाहता हो तो नीचे दिये गई कमेंन्ट बाॅक्स में कमेंन्ट कर सकते हैं जिससे आपकी समस्या का हल जल्द से जल्द किया जायेगा और आपको सही जानकारी दी जा सके। अन्य विषय की जानकारी के लिए भी साइट को रोज पढ़े और रोज विजिट करें।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

A Govt. Jobs 2016 © 2016 Frontier Theme answer key